राजस्थानी फिल्मकार भी अब हाईटेक

यू ट्यूब और फेसबुक जैसी साइट्स के साथ ही टीवी चैनल्स पर कर रहे हैं फिल्मों का प्रमोशन, गांव-गांव दिखा रहे हैं प्रोमो, दीपावली पर संभवत: पहली बार नियमित शो में मल्टीप्लेक्स में रिलीज होगी राजस्थानी फिल्म लाडो मरुधरा की शान
जयपुर . राजस्थानी फिल्मकार भी अब हाईटेक होने लगे हैं। वे अपनी फिल्मों का प्रमोशन यू ट्यूब और फेसबुक जैसी साइट्स के साथ ही टीवी चैनल्स पर कर रहे हैं। यही कारण है कि अब राजस्थानी फिल्मों के नाम भी लोगों की जुबान पर चढऩे लगे हैं।
अब तक समाचार पत्र टीवी चैनल्स राजस्थानी फिल्मों व उनके कलाकारों को अनदेखा करते रहे हैं। इससे कई बार तो जब फिल्म सिनेमा हॉल में लगी तब जाकर लोगों को पता चला कि इस नाम की कोई फिल्म भी बनी है। राजस्थानी फिल्मों के अन्य प्रादेशिक भाषाओं की तरह ज्यादा लोगों तक नहीं पहुंचने की एक बड़ी वजह यह भी बनी। ऐसा नहीं है कि इस सब के लिए मीडिया अकेला जिम्मेदार है, यहां के फिल्मकार भी इसमें कुछ हद तक दोषी हैं। वे कभी मीडिया फ्रेंडली नहीं रहे। लेकिन, अब तस्वीर बदल रही है। बदलाव को उन्होंने महसूस किया है और अब वे सोशल साइट्स पर भी लोगों से जुड़ रहे हैं। इसका सबसे बड़ा फायदा यह हो रहा है कि शहरी लोगों को भी उनकी फिल्मों के बारे में पता चल रहा है। उनके कलाकारों के बारे में जानकारी मिल रही है।

Leave a Reply