इन दो राजस्थानी फिल्मों को मिला अनुदान, एक को 5 व दूसरी को 6 लाख

इन दो राजस्थानी फिल्मों को मिला अनुदान, एक को 5 व दूसरी को 6 लाख

इन दो राजस्थानी फिल्मों को मिला अनुदान, एक को 5 व दूसरी को 6 लाख
राजस्थानी सिनेमा विकास संघ की ओर से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को राजस्थानी सिनेमा को प्रोत्साहन देने के लिए सौंपे गए मांग प़त्र व उनसे हुई मंत्रणा का सकारात्मक असर दिखाई देने लगा है।

इसे लेकर कला एवं संस्कृति मंत्री बी.डी. कल्ला की अध्यक्षता में शासन सचिवालय में हुई राजस्थानी फिल्मों एवं फेस्टिवल को अनुदान देने के लिए गठित राज्य स्तरीय समिति की बैठक में फिल्म सिटी के निर्माण, राजस्थानी फिल्म फेस्टिवल, राजस्थानी फिल्मों को अनुदान सहित को लेकर कई अहम फैसले लिए गए।

यह भी पढ़ें : राजस्थानी फिल्म @1988 : बाई चाली सासरिये

प्रमुख सचिव श्रेया गुहा व अन्य अधिकारियों के साथ बैठक में कल्ला ने प्रजेन्टेशन भी देखा। इस दौरान दो राजस्थानी फिल्मों मोसर को 6 लाख व चूड़ा एक प्रथा को 5 लाख रुपए का अनुदान देने का भी फैसला भी लिया गया।

बैठक में यह भी फैसला हुआ कि राजस्थानी में बनी फिल्मों व राजस्थान में शूट की गई फिल्मों को भी प्रोत्साहन दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें : FULL MOVIE सुपरहिट राजस्थानी फिल्म बीरो भात भरण ने आयो

बीडी कल्ला ने मीडिया से कहा की फिल्मसिटी के बारे में हम मुख्यमंत्री से अनुमति लेंगे और इस बारे में फिर से प्रयास करेंगे। उन्होंने राजस्थानी भाषा को बढ़ावा देने वाली फिल्मों, फेस्टिवल्स तथा सीरियल्स को प्रोत्साहन राशि देने के लिए नियमों में संशोधन किए जाने के भी निर्देश दिए।

चार महीने में पूरी हो अनुदान की प्रक्रिया

कला एवं संस्कृति मंत्री ने यह भी कहा कि अनुदान प्रीव्यू कमेटी एक माह में फिल्मों का रिव्यू करें और अनुदान की अभिशंषा करें। साथ ही राज्य स्तरीय कमेटी भी तीन महीने में बैठक कर योग्य फिल्मों को अनुदान की राशि दें।

Leave a Reply