राजस्थानी फिल्म दिखाने को करें पाबंद

rajasthani cinema vikash sangh
rajasthani cinema vikash sangh

राजस्थानी सिनेमा विकास संघ के तत्वावधान में रवींद्र मंच से एमआई रोड होते हुए एल्बर्ट हॉल तक निकाला ध्यानाकर्षण शांति मार्च

जयपुर। राज्य के विभिन्न कलाकार, रंगकर्मी, तकनीशियन और फिल्मकारों ने ध्यानाकर्षण शांति मार्च निकाला। यह शांति मार्च सुबह 9.00 बजे रवींद्र मंच से रवाना हुआ। शांति मार्च एमआई रोड होते हुए अल्बर्ट हॉल से रवींद्र मंच पहुंचा।
राजस्थानी सिनेमा विकास संघ के अध्यक्ष शिवराज गुर्जर ने बताया कि शांति मार्च का उद्देश्य राजस्थानी फिल्मों को महाराष्ट्र की तर्ज पर सिनेमाघरों में 56 शो अनिवार्य करने के लिए सालाना नवीनीकरण की शर्त में जोड़ने, अनुदान में पारदर्शिता के लिए गाइड लाइन एवं प्री-व्यू कमेटी का गठन करने, राजस्थान के पर्यटक स्थलों को राजस्थानी फिल्मों को शूटिंग के लिए नि:शुल्क उपलब्ध कराने, जवाहर कला केंद्र में फ्राइडे थिएटर की तर्ज पर राजस्थानी फिल्मों को सप्ताह में एक दिन प्रदर्शन कराने और सामाजिक सुरक्षा की श्रमिक योजना के तहत कलाकारों को स्वास्थ्य एवं आवासीन योजना से जोड़ने जैसे मांगों को लेकर किया गया। राजस्थानी सिनेमा विकास संघ के संरक्षक विपिन तिवारी ने बताया कि मांगों से संबंधित ज्ञापन मुख्यमंत्री, कला सांस्कृति मंत्री एवं प्रमुख शासन सचिव को दिया जाएगा। सरकार से मांग की जाएगी कि समस्याओं का समाधान कर बजट घोषणा में शामिल किया जाए।

शांति मार्च में लखविन्दर सिंह, अनिल सैनी, क्षितिज कुमार, राज जांगिड़, रमेश मोदी, पीएम चौधरी, राजकुमार शर्मा, रितुराज, ऊषा जैन, संजना शर्मा, रिया शास्त्री, पूजा जांगिड़, पन्या सेपट, निजाम, राहुल सूद, संजय तोमर, एनके. मित्तल, जहीर खान, मोहसिन खान, मंजूर अली, सुरेश मुद्गल और कपिल सहित राजस्थानी फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े करीब डेढ़ सौ लोग शामिल हुए।

Leave a Reply