इस मामले में राजस्थानी फिल्मों ने तोड़ डाला पिछले साल का रिकॉर्ड

इस मामले में राजस्थानी फिल्मों ने तोड़ डाला पिछले साल का रिकॉर्ड

 इस मामले में राजस्थानी फिल्मों ने तोड़ डाला पिछले साल का रिकॉर्ड

इस मामले में राजस्थानी फिल्मों ने तोड़ डाला पिछले साल का रिकॉर्ड

घीमी शुरुआत के बावजूद इस साल राजस्थानी फिल्मों के रिलीज होने का पिछले साल का रिकॉर्ड टूट गया है। इस साल छह फिल्में रिलीज हुई हैं जबकि बीते वर्ष केवल पांच ही फिल्में सिनेमाघरों तक पहुंच पाई थीं। हालांकि, फिल्में रिलीज होने का यह आंकड़ा गर्व करने लायक नहीं है, बस दिल को तसल्ली देने के लिए है कि इस बार एक फिल्म ज्यादा रिलीज हुई।

यह भी पढ़ें : राजस्थानी फिल्म @1988 : बाई चाली सासरिये

ये पांच फिल्में रिलीज हुई थीं 2018 में

 इस मामले में राजस्थानी फिल्मों ने तोड़ डाला पिछले साल का रिकॉर्ड

गौरतलब है कि 2018 में छह महीने बिल्कुल खाली जाने के बाद सातवें महीने से फिल्में रिलीज होना शुरु हुईं थीं। श्रीगणेश हुआ था निर्माता सुरेंद्र पटेल की इशरत खान द्वारा निर्देशित फिल्म माटी हेलो पाड़े रे से। इसके बाद इसी महीने निर्माता ओम सोऊ की अनिल सैनी के निर्देशन में बनी फिल्म मौसर सिनेमाघरों में आई। अगस्त खाली गया।

यह भी पढ़ें : इन दो राजस्थानी फिल्मों को मिला अनुदान, एक को 5 व दूसरी को 6 लाख

सितंबर में जागृति रिलीज हुई। निर्माता भंवरसिंह शेखावत की इस फिल्म का भी निर्देशन अनिल सैनी ने किया था। अक्टूबर फिर खाली गया। नवंबर में निर्माता सिराज ताकत व अब्दुल राशिद की मंजूर अली के निर्देशन में बनी फिल्म म्हारो राम रहीम रिलीज हुई। साल के अंतिम महीने में आई निर्माता डूंगरचंद सोनी की कन्यादान। इस फिल्म का निर्देशन किया था पुष्पेंद्र गोयल ने।

ये फिल्में आईं 2019 में

 इस मामले में राजस्थानी फिल्मों ने तोड़ डाला पिछले साल का रिकॉर्ड

इस साल रिलीज होने का सिललिा 2018 से एक महिने देरी से शुरू हुआ, लेकिन अंत तक आते-आते 2019 ने एक फिल्म से बढ़त बना ली। अगस्त में पहली फिल्म रिलीज हुई निर्माता प्रमोद सोनी और मनोज यादव की संतोष क्रांति मिश्रा के निदेशन में बनी शंखनाद।

यह भी पढ़ें : अब तक रिलीज राजस्थानी फिल्में

सितंबर में निर्माता एनके मित्तल और निर्देशक मंजूर अली की फिल्म म्हारो गोविंद सिनेमाघरों में पहुंची। इसी महीने एक और फिल्म रिलीज हुई जागृति एक लक्ष्य। इसके निर्माता निर्देशक भंवर सिंह शेखावत हैं। अक्टूबर में भी एक फिल्म आई। यह थी, निर्माता नवीन अग्रवाल और नीरज आरसी गोहिल की संजय मलिक निर्देशित फिल्म पाणाी।

नवंबर में दो फिल्मों का प्रदर्शन हुआ। एक निर्माता निर्देशक प्रदीप मारू की ठकुराइन और दूसरी दुल्हनिया किस्तों में, जिसके निर्माता स्वर्गीय पंकज कुमार थालोड़ थ और निर्देशन किया है निर्देश लॉरेंस ने।

Leave a Reply