राहुल सूद की फिल्म को मिला मुंबई में अवार्ड

राहुल सूद की फिल्म को मिला मुंबई में अवार्ड

राहुल सूद की फिल्म को मिला मुंबई में अवार्ड

राहुल सूद की फिल्म को मिला मुंबई में अवार्ड
जयपुर के एक्टर और फिल्मेकर राहुल सूद को उनकी डॉक्यूमेंट्री फिल्म मजार-ए-लैला-मजनू के लिए मुंबई में चित्रकार वसंत वानखेड़े फाउंडेशन द्वारा आयोजित फिल्म फेस्टिवल 2020 में तृतीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया। यह फेस्टीवल नेशनल गैलरी ऑफ मॉडर्न आर्ट मुंबई में 11 और 12 फरवरी को हुआ। समारोह में नेशनल जनरल फिक्शन फिल्म कैटेगरी में पहला पुरस्कार मुक्ति पर्व को और दूसरा नसीरुद्दीन शाह अभिनीत फिल्म द वॉलेट को मिला।

यह भी पढ़ें : राजस्थानी फिल्म @1988 : बाई चाली सासरिये

राहुल सूद ने बताया कि उनकी यह फिल्म श्रीगंगानगर जिले में पाकिस्तान बॉर्डर पर स्थित एक मजार पर केंद्रित है जो कि लैला और मजनू की मजार के नाम से प्रचलित हैं। यहां पर हर साल जून के महीने में भव्य मेला लगता है जहां पर हजारों की तादात में नवविवाहित जोड़ों के साथ लोग भी दर्शन के लिए आते हैं।

राहुल सूद की फिल्म को मिला मुंबई में अवार्ड

यह फिल्म ना केवल उस मजार पर केंद्रित है बल्कि लैला और मजनू के ऊपर एक इनसाइक्लोपीडिया भी है। इस फिल्म को बनाने में बहुत रिसर्च की गई है इसलिए इसको बनने में काफी वक्त लगा।

यह भी पढ़ें : अब तक रिलीज राजस्थानी फिल्में

उन्होंने बताया कि राजस्थान में गंगानगर जिला टूरिज्म की दृष्टि से अछूता है, इस फिल्म को देखने के बाद यहां पर टूरिज्म भी प्रमोट होगा। उन्होंने यह भी बताया कि राजस्थान में रहकर अवार्ड को जीतना उनके लिए बहुत गर्व की बात है, क्योंकि कंपीटिशन बहुत टफ था। यहां नसीरुद्दीन शाह, विक्रम गोखले और दिलीप प्रभावलकर जैसे प्रसिद्ध अभिनेताओं की फिल्में मुकाबले में थीं।

Leave a Reply