1000 रुपए की सहायता राशि और आई लाइटमैनों-स्पॉटबॉय के खातों में

1000 रुपए की सहायता राशि और आई लाइटमैनों-स्पॉटबॉय के खातों में

1000 रुपए की सहायता राशि और आई लाइटमैनों-स्पॉटबॉय के खातों में । राजस्थान सरकार ने राजस्थानी फिल्म इंडस्ट्री (Rajasthani Film Industry) से जुड़े कलाकारों, लाइटमैनों, स्पॉटबॉय को भी दिहाड़ी मजदूर मानते हुए इनके खातों में एक-एक हजार रुपए की आर्थिक सहायता राशि और ट्रांसफर की है। इससे पहले सरकार ने इनके खातों में 2500-2500 रुपए की सहायता राशि प्रदान की थी। बता दें कि राजस्थानी सिनेमा विकास संघ (rajasthani cinema vikash sangh) ने संघ से जुड़े इन लोगों की सूची भेजकर राजस्थान सरकार से राजस्थानी फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े लोगों को भी दिहाड़ी मजदूरों को मिलने वाली सुविधाएं देने की मांग की थी।

1000 रुपए की सहायता राशि और आई लाइटमैनों-स्पॉटबॉय के खातों में

राजस्थान सरकार ने राजस्थानी फिल्म इंडस्ट्री (Rajasthani Film Industry) से जुड़े कलाकारों, लाइटमैनों, स्पॉटबॉय को भी दिहाड़ी मजदूर मानते हुए इनके खातों में सरकार ने एक-एक हजार रुपए की आर्थिक सहायता राशि और ट्रांसफर की है। इससे पहले सरकार ने इनके खातों में 2500-2500 रुपए की सहायता राशि प्रदान की थी। बता दें कि राजस्थानी सिनेमा विकास संघ (Rajasthani Cinema Vikash Sangh) ने संघ से जुड़े इन लोगों की सूची भेजकर राजस्थान सरकार से राजस्थानी फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े लोगों को भी दिहाड़ी मजदूरों को मिलने वाली सुविधाएं देने की मांग की थी।

यह भी पढ़ें: लाइटमैनों-स्पॉटबॉय के खातों में आई 2500-2500 रुपए की सहायता राशि

Rajasthani Cinema Vikash Sangh की थी मांग

संघ के संरक्षक विपिन तिवारी और संध के अध्यक्ष शिवराज गुर्जर ने बताया कि फिल्म इंडस्ट्री में भी अधिकतर लोग डेलीवेजेज पर ही काम करते हैं। ये सभी असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों में आते हैं। इनका न तो पीएफ कटता है और न ही बीमा किया जाता है। ऐसे में हमने इन्हें असंगठित श्रेणी के मजदूरों में शामिल करते हुए मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुरूप इनके खातों में एक-एक हजार रुपए डाले जाने की मांग की थी।

यह भी पढ़ें: Rajasthani Actress गौरी ने हॉट अंदाज से गोवा बीच पर लगाई आग

पूरी तरह से हो गए बेरोजगार

उन्होंने बताया कि चूंकि लॉकडाउन के चलते इन दिनों फिल्म शूटिंग का काम पूर्णतया रुका हुआ है, ऐसे में ये लोग पूरी तरह से बेरोजगार हो गए हैं। कई लोगों की तो हालत इतनी खराब है कि खाने तक के लाले पड़ गए हैं। ऐसे में सरकार की तरफ से दी जाने वाली हर महीने हजार रुपए की सहायता इनके लिए संजीवनी का काम करेगी।

Rajasthani Cinema Vikash Sangh ने भेजी थी सूची

संघ ने डेलीवेजेज पर काम करने वाले कलाकार, तकनीशियन, लाइटमैन, जूनियर आर्टिस्ट, मेकअप मैन, स्पॉट बॉयज, कोरस डांसर और अन्य लोगों से जो संघ से जुड़े हुए हैं उनसे डिटेल मंगवाई थी। संघ ने डिटेल भेजने वाले ऐसे लोगों की सूची बनाकर श्रम विभाग को भेजी थी।

Leave a Reply