21 साल पहले जिस दिन फिल्म रिलीज की थी, उसी दिन दुनिया छोड़ गए बींजावत

21 साल पहले जिस दिन फिल्म रिलीज की थी उसी दिन दुनिया छोड़ गए बींजावत

■ एम. डी. सोनी

स्मृतिशेष ● #अभयसिंह_बींजावत #कोयलड़ी

राजस्थानी फिल्म निर्माता, अजमेर के पुराने पत्रकार और वरिष्ठ वकील अभयसिंह बींजावत 12 मई को कोरोना से जीवन की जंग हार गए. वकालत से कैरियर शुरू करने वाले बींजावत ने ‘दैनिक दलित पुकार’ के ज़रिए वर्षों तक कमजोर तबके के साथ हर समाज और आम इंसान की आवाज़ बुलंद की.

इस दौरान, मायड़ भाषा के प्रति फिल्मी प्रेम जागा, तो 1996 में राजस्थानी में सामाजिक फिल्म ‘कोयलड़ी’ का लेखन-निर्माण शुरू किया. बड़े बेटे मनोज का नायक और सीमा सिद्धू को नायिका बनाया, जबकि छोटे बेेेटे हीरा सिह को सहनायक. हिंदी सिनेमा की नायिका रणजीता कौर और दमदार अदाकार राजेंद्र गुप्ता को सूत्रधार जोड़ी के रूप में लिया. अन्य छोटी-बड़ी भूमिकाओं के लिए अजमेर के कलाकारों को चांस दिया. सोनू निगम, साधना सरगम, शब्बीर कुमार, सपना अवस्थी, बाबुल सुप्रियो जैसे लोकप्रिय गायकों से गाने गवाए.

अजब संयोग है उनकी ‘कोयलड़ी’ 21 साल पहले आज ही के दिन यानी 12 मई 2000 को रिलीज हुई थी. पर्याप्त प्रचार और व्यापक प्रदर्शन के अभाव में फिल्म नाकाम रही. बींजावत का जोश और उत्साह ठंडा पड़ गया, वर्ना अगले हिंदी प्रोजेक्ट ‘सच्चे मोती’ सहित राजस्थानी, गुजराती और मराठी में कई फिल्में बनाने की उनकी महत्वाकांक्षी योजनाएं रहीं.

बींजावत का दैनिक अख़बार, कॉलेज के दिनों में हम देखा/पढ़ा करते थे. 1999 में ‘कोयलड़ी’ के सिलसिले में उनसे व्यक्तिश: संपर्क हुआ. अजमेर में भगवानगंज स्थित उनके आवास पर मुलाक़ात भी हुई. राजस्थान पत्रिका में ‘थावर’ परिशिष्ट में 22 अप्रेल 2000 को छपे मेरे विस्तृत आलेेेख से वे बहुत ख़ुुुश और संतुष्ट हुए थे.

Leave a Reply